सतगुरू सतनाम, तुमको लाखों प्रणाम। (Sunday, June 1, 2014)
सतगुरू सतनाम, तुमको लाखों प्रणाम।
कोटिन सूरज चांद सितारे, रोम रोम में करे उजारे।
सत पुरूष करतार तुमको लाखों प्रणाम।।
अरबों सूरज चांद सितारे, रोम-रोम में करे उजारे।
अलख पुरूष करतार, तुमको लाखों प्रणाम।।
खरबों सूरज चांद सितारे, रोम-रोम में करे उजारे।
अगम पुरूष करतार, तुमको लाखों प्रणाम।
नील नील शशि भानु व तारे, रोम-रोम में करे उजारे।
अनामी पुरुष करतार, तुमको लाखों प्रणाम।।
जयगुरुदेव दयाल, तुमको लाखों प्रणाम।।