जय गुरू देव समाचार

26 मई 2014 महाराज जी द्वारा प्रातः सत्संग....
26 मई 2014 महाराज जी द्वारा प्रातः सत्संग ये लेने देने का संसार है। जैसे कमल खिला रहता है किचड में ऐसे रहने की जरूरत है काटेा में गुलाब खिल जाता है। उस तरह से समाज में रहो समाज में रहा लेकिन फसो नहीं भोग भोगो लेकिन उसमें फसो नहीं अपना काम बनाओं भजन करेा। गुरू महाराज ने जो अंतिम ओदष जो सब लोगो केा दिया कि तुम लोग प्रचार करो ष्शाकाहारी का प्रचार करो। तो शाकाहारी का प्रचार जोर सोर से होना चाहिए। देखो गुरू पूर्णिमा होगी गुलाबी ष्शहर जयपुर में और गुलाबी जलवा आपको वहां देखने को मिलेगा गुलाबी कपड़ा आप सब लोग तब-तब के लिए बनवा लो नहीं कुछ है तो गुलाबी रूमाल ही बांध लेना। नहीं कुछ है तो जाकिट ही पहन लो। गुलाबी वस्त्र आपको कुछ न कुछ बनवा लेना है आपके पास हो जाना ह ैअब वो गुलाबी कपड़ा जब पहन कर वहा आओगे तब गुलाबी जलवा दिखाई पड़ेगा और गुलाब की महक देष में ही नहीं फैलेगी विदेषो तक जाएगी तो गुरू पूर्णीमा का अवसर आवको दिया जा रहा है प्रचार-प्रसार के लिए आप जिन-जिन जिलों से आएहो आपके जिले में कोई भी  घर छूटना नहीं चाहिए एैसी योजना बनाओ कि हर घर में ये संदेष पहुंच जाए कि बाबा जी का कहना है, शाकाहारी रहना है। कुदरत है नाराज खड़ी आगे तबाही बड़ी-बड़ी। यह भी बताना है अभी तक आप तो यह भी बताते रहे मगर अब ये भी बताना है की आगे तबाही बड़ी-बड़ी। चेतावनी देनी है अगर नहीं मानोगे प्यारे, तौबा-तौबा करोगे प्यारे।

आप देखो क्रोध की अग्नी चढ़ेगी लोगो पर और क्रोध इतना बढ़ेगा कि अपने ही क्रोध में जलकर मरेगा कैसे - जहर खा लेगा, ट्रेन के नीचे कूद जाएगा, पानी में डूब जाएगा। इसलिए जितने भी आप लोग हो आपको क्रोध को पीना है। क्रोध जब आवे तो एक दम गुरू को याद करो धीरे से कान में उगली लगाओ और बैठ जाओ और वहा से हटा जाओ। इस चीज को समझ लो आप लोग। आगे और तबाही आयेगी लूट-पाट, चोरी बइमानी बढ़ेगी तो आपको लोगो को बचाना है। तो उकसे लिए अभी समय है। आप लोगो को ऐसा बन जाना चाहिए की गुरू पूर्णिमा तक जोर-सोर से शाकाहारी का प्रचार हो जाना चाहिए यानी कर दो पहुंचा दो ये खबर और राजस्थान के लोगे के लिए अच्छा मौका हैै।

ये जो दो दिन का कार्यक्रम रामचन्द्रपुरा, जयपुर में होना जा रहा है तो वहां पर आप सब लोग तैयारी जो लोग आये हो अब शुरू कर दो और व्यापक प्रचार करो, कोई भी जिला बाकी न रहे। तो राजस्थान अगर जग गया तो हिन्दुस्तान केा जगा देगा। इसलिए राजस्थान के लोगो में ऐसी स्फूर्ती आप लोग भारो कि सब लोग पहुंच कर के वहा पे और नामदान ल ेले असला काम जो जीवन का है उसे सफल बना ले ये मौका आप सब लोगो के लिए है। तो तभी गुरू पूर्णिमा तक मौका है जोरदार प्रचार इसका होना चाहिए। शाकाहारी का और देखो नौ जवानो, बच्चो चरित्रवान रहना चरित्र बहुत बड़ी चीज है। चरित्र गिरने न पावे आदमी औरत और जितने भी नौजवान लड़के-लडकिया है आप लोग इस बात को समझ लो आप अपने को काबू में ले आओ नहीं तो आपका अस्तित्व खतम हो जाएगा चरित्र तो बहोत बड़ी चीज है बहोत बड़ी चीज। और माता पिता की करना सेवा माता-पिता का लेना आर्षिवाद वो बहोत जरूरी है। और कलयुग कहा पर है सोना में है सोना में। यहा पर एक छोटा सा स्थान बना दिया गुरू महाराज का और फोटो लगा दिया गया मंदिर तो गुरू महाराज का बहोत विषाल बनेगा, बहोत विषाल बनेगा इसकी कोई तुलना नहीं रहेगी ये तो नहीं बताउगा की कब बनेगा कहा बनेगा लेकिन बनेगा। बहोत विषाल बनेगा इसकी कल्पना भी नहीं है लोगो को। अभी तो मै इस काम में लगा हुआ हूूं कि जो लोग भटक गये है ये जो नदिया के कई टुकडा बना लिए नदी तो एक ही है लेकिन कई घाट बना लिए गुरू की लगाई हुई बगिया के एक भी पेड सूखने ना पावे इसलिए मेहनत दिन रात कर रहा हूं। मेहनत पर मुझे भरोसा है गुरू मेरे मेहनत से रीझेगे इसी में लगा हूं मै तो कुछ नहीं हूं। देखो मेरा इषारा ये है कि जगह-जगह पर ये स्थान बन जाए क्यों की बहोत बड़ी संगत हिदुस्तान में इससे अभी बहोत बड़ी संगत हिन्दुस्तान में बनेगी बहोत बढ़ेगी बरकत तेा होगी गुरू महाराज दया करेंगे। बरकत तो बहोत लोगो की हुई जिनके पैर में जूतिया नही ंहोती थी वे मोटर कार में चलने लग गये। मैं ये चाहता हूं कि गुरू महाराज का स्थान जहां कही भी बने एक ही तरह से बने सब जगह पर एक ही गुरू महाराज की पहचान बने। मेरा कुछ नहीं जो भी काम होगा सब गुरू महाराज के नाम का होगा। और गुरू का ड़का हिन्दुस्तान में ही नहीं पूरे विष्व में बजाया जाएगा। आपको यह विष्वास होना चाहिए कि गुरू महाराज का कोई काम रूकेगा नहीं। अब जे इसमें निम्मित बन जाएगा उनका यष हो जाएगा और लाभ मिल जाएगा।

अब आपको ये भी बता दे रहा हूं इस भण्डारे में गुरू महाराज के मिषन में लगोगे तो रोजी रोटी की समस्या आपकी खतम हो जाएगी। खाने की और पहनने की कमी नहीं रहेगी और नीयत अगर आपकी साफ रहेगी परमार्थी निषाना रहेगा तो इस धर्म के काम करने के लिए परमार्थ के काम करने में पैसे की कमी नहीं होगी । तो इस लिए आप इन बातो को समझो और सुनो।


Updation On Monday, May 26, 2014