जय गुरू देव समाचार

जान बचाओ, शाकाहार अपनाओ।
बरखेड़ा, 23 नवम्बर 2014 देश दुनिया में शाकाहार अपनाने शराब मान्स मछली अण्डा चोरी ठगी एवं व्यभिचार का त्याग करने का घनघोर प्रचार कराने वाले गौ माता की हत्या करने वालों को फांसी हो ऐसा विधान बनाने का आव्हान करने वाले सन्त उमाकान्त जी महाराज के रक्षा यात्रा काफिले का कल रात्रि को  यहां पधारने पर भव्य स्वागत किया गया।

सन्त उमाकान्त जी महाराज ने सत्संग में सुनाया कि इस समय धरती पर पाप बहुत हो रहा जीव हत्या मानव हत्या बलात्कार धोखा बेईमानी चोरी-डकैती दिल दुखाने जैसी घटनायें बहुत हो रही हैं। सतसंग मिलने संतो के पास जाने से बुद्धि भ्रश्ट होती जा रही है। भगवान खुदा के बनाये नियम के खिलाफ इन्सान काम कर रहा है। नाराज कुदरत सजा देने के लिए तैयार है। जगह-जगह आग लगेगी फैक्ट्री दुकानें गांव के गांव जल कर नश्ट हो जायेंगे। हवा इतनी तेज चलेगी कि पत्थर उड़कर लोगों के ऊपर पड़ेंगे लोग मरेंगे। मेघ देवता पानी की जगह ओला पत्थर बरसायेंगे। धरती हिलेगी फटेगी- जन धन की हानि होगी। अपराध बढे़गा। किसी की बहन-बहू-बेटी सुरक्षित नहीं रहेगी। आगे बहुत खराब समय आने वाला है। इस समय पांचों देवता नाराज हैं। बहुत तरह की प्राकृतिक आपदाओं से कैसे बचेंगे और यह अमोलक मनुश्य शरीर पाने का असली काम कैसे बनेगा आपस में प्रेम प्यार सकून शान्ति कैसे आयेगी इसका उपाय बताया कि बिन हरि भजन मिटेहिं कलेशा।


महाराज जी ने याद दिलाया कि भारत वर्ष सदैव ऋषि मुनि अवतारी शक्तियों संत-महात्माओं की भूमि रही है। ये समय-समय पर आकर दुःखी लोगों को सुख-शान्ति प्रदान किये। धरती के विलक्षण महापुरुष बाबा जयगुरुदेव जी महाराज ठीक समय से इस धरती पर आये। अथक परिश्रम करके कितने लोगों को शाकाहारी सदाचारी नशामुक्त बनाया। नीयत सही किया। कुदरत से बरकत दिलाई। इसी मनुष्य मंदिर यानी इन्सानी जामे में खुदा की इबादत भगवान के भजन का सीधा सरल रास्ता बताकर रूह को निजात दिला दिया।


बाबा जयगुरुदेव जी महाराज के आध्यात्मिक उत्तराधिकारी संत उमाकांत जी महाराज ने बाबा जी के मिशन को आगे बढ़ाते हुए आम जनता से लेकर राष्ट्रपति मुख्यमंत्रियों सभी वर्ग के नेताओं कर्मचारी अधिकारियों मठ के मठाधीश पंडित मुल्ला मौलवी पादरी ग्रन्थियों  से शाकाहारी नशे से मुक्ति की अपील करते हुए गौ माता को राष्ट्रीय पशु घोषित करने की प्रार्थना की और कहा कि सभी लोग ईश्वर वादी यानी खुदा परस्त हो जायें और अपने-अपने धर्म मजहब के बताये तौर तरीके से इबादत भजन पूजन जरूर करें।  नहीं तो  जो बच्चे पैदा करेंगे वो नालायक निकलेंगे।


महाराज जी ने कहा कि सभी लोग मेहनत और ईमानदारी की कमाई करें। जो मालिक बच्चा पैदा होने से पहले मां के स्तन में दूध भर देता है परवरिश वही करता है उस पर विश्वास करें। गर्भपात भू्रण हत्या जैसा पाप करें करायें। विकराल समय रहा है। बचेगा साधजन कोई जो सत से लव लगायेगा। आने वाले खराब समय में गुलाबी वस्त्र धारण करने से लाभ मिलेगा। उन्होंने कहा कि नवजवानों चरित्रवान बन जाओ और माता-पिता की सेवा करो। मेहनत से पढ़ाई करो ईमानदारी से काम करो।


साथ ही महाराज जी ने नेक सलाह दी कि यदि लोग शाकाहारी सदाचारी चरित्रवान बन जायें शराब अन्य बुद्धिनाशक नशा छोड़ दे तो थोड़ी बचत हो सकती है।


महाराज जी ने कहा कि कुछ समय के लिए औरतें आभूशण पहनना और अकेले में कहीं आना-जाना बन्द कर दें।


बच्चांे माता-पिता की सेवा करो और चरित्रवान बन जाओ। सभी लोग 24 घंटे में से एक घंटे सुबह शाम समय निकाल कर इसी मनुश्य मंदिर में भगवान का सच्चा भजन करिये। ख्वाहिषों की इबादत से मालिक नहीं मिलता।


उन्होंने माननीय प्रधानमंत्री जी और मुख्यमंत्रियों से कहा कि आप गौमाता को राश्ट्रीय पशु घोशित करके ऐसा कानून बनाइए कि गौ हत्या करने वाले को फांसी की सजा हो जाये। इससे गऊ माता की जान बच जायेगी।


महाराज जी  ने देश -दुनिया को वर्तमान एवं आसन्न संकटों से उबारने के लिए  सरल उपाय बताते हुए कहा कि संत महात्माओं की भूमि भारत में आध्यात्मिकता का लोप होता जा रहा है। अपराध भ्रश्टाचार अपहरण बलात्कार बढ़ता जा रहा है प्रकृति देवी-देवता नाराज हो रहे हैं जिससे अमन चैन नहीं रहा।  संत उमाकान्त जी महाराज ने बताया कि इन तकलीफों की जड़ मान्स और शराब है।


उन्होने कहा कि 84 लाख योनी के बाद मनुश्य शरीर से पहले गाय और बैल की योनी मिलती है इसके बाद फिर साधना का धाम यह देव दुर्लभ शरीर मिलता है जिससे साधना करके नर्क चैरासी जनम-मरण से छुटकारा मिलता है। दुःख के संसार में फिर नहीं आना होता ऐसी गऊ माता को लोग मारकर खा जाते हैं सोचो जिसका दूध पीते माता कहते हैं उसी का मांस खाते हैं। कुदरत सजा दे देगी। गाय को राश्ट्रीय पषु बना देने गऊ माता को मारने पर फांसी की सजा हो ऐसा विधान बना देने से गऊ माता की जान बच जायेगी। महाराज जी ने कहा कि इस काम को प्रधानमंत्री मुख्यमंत्री ही कर सकते हैं। यह काम ये कर दें और जनता को न्याय सुरक्षा दे दें तो मैं उस मालिक से रोजी रोटी सबको दिला दूंगा और भजन-पूजन-साधना के द्वारा आध्यात्मिक शक्ति दिला करके भारत को विष्व गुरु बनाकर दिखा दूंगा। महाराज जी ने कहा कि देश का सौभाग्य जागा है कि शाकाहारी प्रधानमंत्री हुआ। मोदी जी शाकाहारी हैं इसलिए इनसे उम्मीद जगी है। स्मरणीय है ईष्वरी शक्ति ने ही इनको इस उच्च पद पर पहुंचाया है कुछ करने लायक बनाया है। इसके साथ सन्त उमाकान्त जी महराज ने प्रतिज्ञापूर्वक कहा कि यदि मोदी जी गौ हत्या बन्द नहीं करा सकते हैं तो मंै वादा करता हँू कि देष मंे गौ हत्या बन्द करा कर के ही दम लिया जाएगा। उन्होंने यह भी स्पश्ट शब्दों में कहा कि मेरे पास ऐसी योजना है कि जब देश में लागू करूंगा तो कष्मीर से कन्याकुमारी तक कहीं भी कोई भी शराब मांस अण्डे की दुकान नजर नहीं आएगी ऐसा होगा सतयुग का पदार्पण।


देश की करोड़ों जनता की भावनाओं की कद्र करते हुए देशा के प्रधानमंत्री मुख्यमंत्रियों से लिखित प्रार्थना की जा रही है कि आप गौ माता को राश्ट्रीय पषु घोशित करके ऐसा विधान बना दे कि गौ हत्या करने वाले को फांसी की सजा हो जाये। आप की बड़ी मेहरबानी होगी।


इस अवसर पर बाबा जयगुरुदेव संगतों के विभिन्न प्रान्तों के जिम्मेदार श्री मोतीलाल शर्मा (मोतीहारी-बिहार सत्यदेव पाठक (प्रान्तीय अध्यक्ष उप्र पं जगदीशप्रसाद शर्मा (प्रान्तीय अध्यक्ष राजस्थान सुनील कौषिक (प्रान्तीय महामंत्री सत्यजीत सिंह देशमुख (प्रान्तीय अध्यक्ष मप्र कन्हैयालाल गुप्ता  नवल किषोर पाण्डेय राउपदेषक बीरम सिंह (सहारनपुर अमरनाथ यादव (प्रान्तीय मंत्री उप्र कामता प्रसाद तिवारी हुकुम सिंह (देवास-महामंत्री मप्र जेपी त्रिवेदी (अहमदाबाद जयेन्द्र (बड़ोदरा एस पी सिंह (पूर्वी चम्पारण सी पी खडोलिया (प्रभारी युवा छात्र राज राजेन्द्र सिंह तेजसिंह राघव (पूर्व जिलाध्यक्ष भाजपा टोंक हरि जी (दिल्ली भण्डारा संचालक पुश्कर दत्त शर्मा राश्ट्रीय उपदेषक (सीकर राजस्थान इंजीनियर रोहिताष्व यादव माडूराम यादव रविन्द्र यादव सुनील यादव वीरेन्द्र पटेल (इन्दौर पवन पटेल (इन्दौर इंजी वी एन पाण्डेय (लखनऊ पंडित राकेश शर्मा आगरा अनिरूद सिंह उर्फ पुरखा (रायबरेली रामचन्द्ररलाल वर्मा ग्राम बरखेडाकलां रामाधार मिश्र रामरतन लाल कुशवाहा रामभरोसे लाल अमृत लाल चैहान आदि  के अलावा हजारों की संख्या में स्थानीय धर्म प्रेमी स्त्री-पुरुश-नौजवान-बच्चे मौजूद थे।


इस रक्षा यात्रा काफिले के साथ सचल भोजन व्यवस्था के लिए दिल्ली उत्तराखण्ड सीतापुर (.  प्र के भण्डारों के अलावा त्वरित स्वास्थ्य सेवाओं के लिए दो एम्बुलैंस साथ चल रहे हैं।


7 नवम्बर 2014 को चित्रकूट धाम से प्रारम्भ होकर यह रक्षा यात्रा काफिला बिहार में भोजपुर बेगुसराय दरभंगा पूर्वी चम्पारण (मोतीहारी सीवान के बाद उत्तरप्रदेष के देवरिया महाराजगंज सिद्धार्थनगर बस्ती अम्बेड़कर नगर जौनपुर अमेठी गोण्डा हैदरग लखीमपुर से बरखेडा जनपद पीलीभीत पहुंचा है। आगे  बरखेड़ा के बाद रामपुर बिजनौर अलीगढ़ मैनपुरी जिलों के बाद 28 नवम्बर 2014 को आगरा में ग्वालियर रोड पर स्थित इंटौरा में इस संकल्पित रक्षा यात्रा काफिले का समापन होगा। जहां महाराज जी नवीन महत्वपूर्ण सामयिक घोशणा कर सकते हैं।


इस अवसर पर महाराज जी ने जान बचाओ- शाकाहार अपनाओ नारे का आगाज किया।


महाराज जी ने घोशशा की है कि अगहन पूर्णिमा 5-6 दिसम्बर 2014 को आबू पर्वत की तलहटी में बनास नदी के किनारे जिला सिरोही राजस्थान में सत्संग कार्यक्रम आयोजित किया जायेगा जिसमें उत्साह लगन के साथ साधना करने वालों को कोटिन चन्द्रमा का प्रकाश दिखाई देगा।


बाबा जयगुरुदेव जी महाराज के आध्यात्मिक उत्तराधिकारी संत उमाकांत जी महाराज द्वारा स्थापित बाबा जयगुरुदेव आश्रम उज्जैन ( प्र में प्राकृतिक कृशि गौशाला भोजन भण्डारा के अतिरिक्त 350000 वर्ग फिट में 3 मंजिला बाबा जयगुरुदेव धर्मार्थ अस्पताल का निर्माण चल रहा है जहां से देश दुनिया के लोगों को दया-दुआ-आषीर्वाद से भौतिक आध्यात्मिक लाभ मिलता है।


                            सुनील कौषिक
                            मीडिया प्रभारी
     बाबा जयगुरुदेव धर्म विकास संस्था, उज्जैन (म.प्र.)
                           मो. 09829042771


Updation On Sunday, November 23, 2014